भविष्य के विज्ञान के बारे में विज्ञानाचार्य जाने: रवि कुमार

भविष्य का विज्ञान कैसा है इसके बारे में विज्ञान आचार्यों को जानने की आवश्यकता है उक्त शब्द श्री रवि कुमार-संगठन मंत्री विद्या भारती हरियाणा ने ATL कार्यशाला 20 अगस्त , 2019 को संस्कृति भवन, गीता निकेतन परिसर कुरुक्षेत्र में कहे| उन्होंने कहा कि भविष्य का विज्ञान Digital, Robotics, Automation का है| यदि विज्ञान आचार्य इसे नहीं जानेगा तो वह बालक को सही दिशा नहीं दे सकेगा| ATL Lab भविष्य के विज्ञान को ध्यान में रखकर Design की गई है| इसका लाभ केवल बालकों के लिए ही नहीं आचार्यों के लिए भी है| इस कार्यशाला का प्रमुख उद्देश्य अटल टिंकरिंग प्रयोगशाला से जानकारी प्राप्त करना एवं सम्बंधित समस्याओं को सुलझाना था|

 

प्रथम सत्र में गीता निकेतन आवासीय विद्यालय, कुरुक्षेत्र की Project आचार्या श्रीमती गीता अरोडा ने अटल टिंकरिंक प्रयोगशाला को विस्तारपूर्वक बताया| इसके उपरांत प्रान्त कार्यकरिणी सदस्य माननीय श्री अश्वनी कुमार गुप्ता जी ने प्रान्त के ATL विद्यालयों के बारे में जानकारी ली|

कार्यशाला के दुसरे सत्र में डॉ. सी सी त्रिपाठी  (निर्देशक,यूं आई ई टी कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय) ने कहा कि अध्यापकों को विद्यार्थिओं का मार्गदर्शन समाज के लिए उपयोगी उपकरणों का निर्माण करने के लिए करना चाहिए| इस कार्यशाला में 14 विद्यालयों से 23 प्रतिनिधियों ने भाग लिया|

vidyabhartiharyana

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *