ग्रामीण शिक्षा विकास समिति हरियाणा के आचार्य विकास वर्ग का हुआ समापन

ग्रामीण शिक्षा विकास समिति के तत्वाधान में 23वां आचार्य विकास वर्ग रिपु सूदन सिंह गीता विद्या मंदिर, बाबैन में संपन्न हुआ| 16 दिवसीय आचार्य प्रशिक्षण 1 जून से 16 जून तक भिन्न-भिन्न क्रियाकलापों, प्रात: स्मरण, योग, शिक्षण, दिशा बोध, शारीरिक भ्रमण एवं सांस्कृतिक रात्रि कार्यक्रमों की दैनिक दिनचर्या सहित सफलतापूर्वक संपन्न हुआ| 1 जून सांय उद्घाटन सत्र विद्या भारती हरियाणा के संगठन मंत्री श्री रवि कुमार जी के द्वारा हुआ, सत्र में शिक्षार्थियों को आचार्य विकास वर्ग के महत्त्व पर प्रकाश डाला| उन्होंने कहा कि आचार्य आचरण से सीखता है | हम जैसे है वैसा ही सिखा सकते है शिक्षक जीवन भर विद्यार्थी रहता है | आचार्य विकास वर्ग यह 15 दिवसीय वर्ग सिखने के लिए है | 16 दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग में पालक के नाते श्री जगन्नाथ शर्मा जी अध्यक्ष एवं श्री चेतराम शर्मा जी, मंत्री- ग्रामीण शिक्षा विकास समिति रहे| प्रशिक्षण वर्ग में विद्या भारती हरियाणा के 13 ग्रामीण विद्यालयों से 44 आचार्य बहनें एवं, 5 आचार्य भैया ने प्रशिक्षण को पूर्ण किया | वर्ग की दिनचर्या प्रात: 4:30 से रात्रि 10 बजे तक विभिन्न कलांशों  के रूप में सम्पन्न होती थी जिसमें प्रात: स्मरण, योगभ्यास, वंदना व दिशाबोध, शिक्षण सत्र, चर्चा  सत्र, स्वाध्याय, शारीरिक व रात्रि कार्यक्रम के रूप में रहती थी| 16 दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग में विभिन्न विषयों को विद्या भारती के विभिन्न प्रांतीय, क्षेत्रीय व राष्ट्रीय अधिकारीयों द्वारा मार्गदर्शन प्राप्त हुआ| विभिन्न सत्रों में विद्या भारती का वैचारिक अधिष्ठान, शैक्षिक चिंतन, भारतीय शिक्षा मनोविज्ञान, पंचपदी, क्रिया आधारित शिक्षण, पञ्चकोशीय एवं आधारभूत विषयों का क्रियान्वन आदि का प्रशिक्षण दिया गया|

वर्ग का समापन 15 जून को किया गया जिसमें ग्रामीण शिक्षा विकास समिति के मुख्य अतिथि सतनाम सिंह-जिला मौलिक अधिकारी ने कहा कि हर बच्चे में प्रतिभा छिपी होती है और शिक्षा ग्रहण करते समय ही इस प्रतिभा में निखार आने पर विद्यार्थी का भविष्य उज्जवल बन सकता है

vidyabhartiharyana

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *