विद्या भारती हरियाणा द्वारा आयोजित ‘लक्ष्य – Career Counselling Session’

समाचार

कक्षा नौवीं से बारहवीं के विद्यार्थियों को भावी जीवन के लिए विषय क्षेत्र को अध्ययन एवं व्यवसाय के रूप में चुनना होता है, आगे इसी के आधार पर उच्च शिक्षा में प्रवेश व अध्ययन की दिशा निर्धारित की जाती है। इन्हीं विषयों को केंद्र में रखते हुए दिनांक 18 जुलाई 2021 को विद्या भारती हरियाणा पूर्व छात्र परिषद एवं माध्यमिक शिक्षा विभाग के संयुक्त तत्वाधान में प्रांत स्तरीय ऑनलाइन लक्ष्य कैरियर काउंसलिंग वेबीनार का आयोजन किया गया। इस सेमिनार में विषय वस्तु के विशेषज्ञ श्री रंजन शर्मा जी-मुख्य काउंसलर चैतन्य कैरियर काउंसलिंग सेंटर कुरुक्षेत्र द्वारा इस विषय पर विस्तार से पी. पी. टी. के माध्यम द्वारा चर्चा की गई। उन्होंने अपनी प्रस्तुति में विद्यार्थियों के विषय चयन, उसके कारण, बालक की प्रतिभा, रूचि परिवारिक पृष्ठभूमि के साथ अपने विषय को कैसे क्रमबद्ध आगे बढ़ाकर लक्ष्य को प्राप्त करें, इसी तरह से परामर्श हो इसकी जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि इस परामर्श से प्रक्रिया में साइकोमेट्रिक जांच जोकि पूर्णत वैज्ञानिक विधि द्वारा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ट जांच प्रणाली है, का होना आवश्यक है इस जांच के आधार पर जो परिणाम आते हैं उसके आधार पर विद्यार्थीं अपने लक्ष्य की ओर बढ़ता है तो असफलता की संभावना बहुत ही कम या नहीं के बराबर रहती है। बैठक में प्रतिभागी आचार्यों द्वारा जिज्ञासा के प्रश्न पूछे गए जिसमें, जांच द्वारा आए परिणाम को बालक स्वीकार करता है कि नहीं, अभिभावक तैयार किस प्रकार होते हैं ग्रामीण क्षेत्रों में यह संभव है क्या खर्च? आदि की क्या सीमाएं हैं ऐसे सभी प्रश्नों का उत्तर भी वक्ता महोदय द्वारा समाधान पूर्वक पूर्वक दिया गया ।

इस की बैठक के अंतिम सत्र में माननीय रवि कुमार जी-संगठन मंत्री विद्या भारती के हरियाणा द्वारा  अन्य बिंदुओं पर मार्गदर्शन प्राप्त हुआ उन्होंने कहा कि प्रत्येक विद्यालय कैरियर काउंसलिंग सेल का गठन करें। उनमें कक्षा नौवीं से बारहवीं तक के सभी विषय शिक्षक इस रोल को संचालित करें अर्थात अपने विद्यालय की आवश्यकता, छात्रों की अभिरुचि, माता-पिता के विचार, भैया-बहन अलग-अलग यह संयुक्त रूप से सब बातों की रचना योजना बनाकर काउंसलिंग की वार्षिक सूची बनाकर समय सारणी में स्थान दें। 21वीं सदी की आवश्यकता अनुसार प्रत्येक बालक व्यक्तिगत प्रोफाइल तैयार करें, सब कामों में पहली पहल विद्यालय करें, फिर धीरे-धीरे पूर्व छात्र परिषद की भूमिका पर विचार करें।

इस वेबीनार कुल 82 प्रतिभागियों ने भाग लिया। वेबीनार का संचालन डॉ पंकज शर्मा जी- अखिल भारतीय संयोजक पूर्व छात्र परिषद ने किया। इस बैठक में डॉ. अवधेश पाण्डेय-मंत्री हिन्दू शिक्षा समिति कुरुक्षेत्र एवं डॉ संतोष देवांगन- प्रांतीय संयोजक माध्यमिक शिक्षा विभाग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *